मुंबई. हिंदी सिनेमा जगत में 70 और 80 के दशक में अपने खास डांस की वजह से जंपिंग जैक के नाम से मशहूर अभिनेता जितेंद्र आज अपना 74वां जन्मदिन मना रहे हैं. 7 अप्रैल 1942 को जन्में जितेंद्र अपने जमाने के सुपरस्टार रह चुके हैं. अपने बेहद ही आकर्षक लुक्स की वजह से लाखों लड़कियों के ड्रीमब्यॉय रहने वाले जितेंद्र ने अपने करियर की शुरुआत फिल्म ‘गीता गाया पत्थरों ने’ से की थी.
 
जितेंद्र के अंदर अभीनय का गुण पारिवारिक नहीं था. उनके परिवार का फिल्मी दुनिया से कोई नाता नहीं था. अपने फिल्मी करियर में 200 बेहतरीन फिल्में करने वाले इस अभिनेता की जीने की राह, मेरे हुजूर, फर्ज, हमजोली, कारवां, धरमवीर, परिचय, खुशबू, तोहफा और हिम्मतवाला बेहद ही कामयाब और यादगार फिल्में रही हैं.
 
कई हसीनाओं के साथ नाम जुड़ा
 
हालांकी जितेंद्र ने साल 1974 में अपने 14 साल पुराने प्यार शोभा कपूर से शादी कर ली थी. लेकिन उसके बाद भी उनका नाम अपने जमाने की कई बॉलीवुड हसीनाओं के साथ जोड़ा गया था. एक वक्त ऐसा था जब बॉलीवुड की ड्रीमगर्ल हेमा मालिनी की सुंदरता के दिवाने हो गए थे जितेंद्र.
 
 
उसी दौर में दोनों की साथ में वारिस(1969), भाई हो तो ऐसा(1972), गरम मसाला(1972) और गहरी चाल(1973) जैसी फिल्में आई थीं. जिसे दर्शकों ने काफी सराहा था.
 
 
 
जितेंद्र और श्रीदेवी की जोड़ी को तो लोग आज भी साथ में देखना चाहते हैं. साउथ की फिल्मों के बाद हिंदी फिल्मों में अपना जलवा बिखेरने वाली श्रीदेवी को बॉलीवुड में प्रमोट करने के लिए जितेंद्र ने उनका काफी साथ दिया था.
 
 
दोनों की जोड़ी ने मवाली, जस्टिस चौधरी, जानी दोस्त, हिम्मतवाला जैसी फिल्मों में अपना जलवा बिखेरा था. लेकिन पत्नी शोभा द्वारा बच्चों के साथ घर छोड़ने की धमकी देने के बाद जितेंद्र ने श्रीदेवी को प्रमोट करना बंद कर दिया.
 
जितेंद्र ने खूबसूरत अदाकारा जया प्रदा को भी बॉलीवुड में कदम जमाने के लिए खासी मदद की थी.
 
 
दोनों की जोड़ी को दर्शक साथ में देखना बेहद पसंद करते थे. जया और जितेंद्र ने साथ में पापीदेवता, इंसानियत का देवता, मां जैसी फिल्में की थीं.
 
अवॉर्ड्स की है लंबी लिस्ट
 
जितेंद्र को सिनेमा में अपने काम के लिए कई अवॉर्ड्स मिले हैं. साल 2014 में उन्हें दादासाहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. इसके अलावा उन्हें दो बार लाइफ टाईम अचीवमेंट्स पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था. साल 2007 का दादासाहब फाल्के अकादमी सम्मान भी जितेंद्र के हिस्से में गया था. 
 
बता दें कि जितेंद्र ने पूरी तरह से बॉलीवुड से दूरी नहीं बनाई है. वह अभी भी कुछ फिल्मों में गेस्ट की भूमिका में दिखाई देते हैं.