मुंबई. टीवी एक्ट्रेस प्रत्यूषा बनर्जी को उकसाने के आरोप में उनके ब्वॉयफ्रेंड राहुल राज सिंह की कभी भी गिरफ्तारी हो सकती है. इस गिरफ्तारी से बचने के लिए राहुल के नए वकील ने उनकी तरफ से दिंडोशी कोर्ट में में अग्रिम जमानत की याचिका दायर की है.

वहीं इस मामले में राहुल के पुराने वकील नीरज गुप्ता केस से हट गए हैं. नीरज गुप्ता का कहना है कि राहुल ठीक तरह से जानकारी नहीं दे रहा था इस लिए उन्होंने केस छोड़ दिया है. इम मामले पर राहुल के परिवार वालों का कहना है कि नीरज गुप्ता कभी हमारे वकील नहीं थे.

बता दें कि मुंबई पुलिस ने राहुल राज सिंह पर खुदकुशी के लिए उकसाने के आरोप में केस दर्ज किया है. पुलिस ने इस मामले में प्रत्यूषा के मंगेतर राहुल से पूछताछ की थी.

एक प्रोडक्शन कंपनी चलाने वाले राहुल राज इस समय सीने में दर्द और ब्लड प्रेशर कम होने की शिकायत के बाद कांदीवली के अस्पताल में हैं. राहुल को रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालांकि अब उन्हें आईसीयू से जनरल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है.

उनके वकील नीरज गुप्ताा के अनुसार, राहुल की हालत अब भी ठीक नहीं है और वे सदमे में हैं. प्रत्यूषा की खुदकुशी से जुड़े मामले में पुलिस दंपती के दोस्तों से भी बातचीत करेगी. प्रत्यूषा के करीब 10 सहयोगियों ने मामले की पड़ताल में पुलिस के समक्ष मदद की पेशकश की है.

मुंबई की वकील फाल्गुनी ब्रह्मभट्ट ने बताया, ‘मैंने 10 लोगों की सूची बांगुर नगर पुलिस स्टेशन को दी है और उन्हों ने जल्द ही मामले से जुड़ी जानकारी के लिए बुलाया जा सकता है.’ इन 10 लोगों की पहचान फिलहाल उजागर नहीं की गई है.

प्रत्यूषा के दोस्त काम्या पंजाबी और विकास गुप्ता ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेस कर बताया कि टीवी एक्ट्रेस के राहुल से संबंध बिगड़ चुके थे. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रत्यूुषा को यह लगने लगा था कि राहुल उसके साथ धोखा कर रहा है. यही नहीं, उसने प्रत्यूषा को सार्वजनिक स्थान पर थप्पड़ भी मारा था. राहुल राज की पूर्व गर्लफ्रेंड सलोनी शर्मा ने भी कथित तौर पर प्रत्यूषा से मारपीट की थी.