ऋषिकेश. हरिद्वार से 24 किलोमीटर दूर स्थित है ऋषिकेश. यही पर गंगा नदी पहाड़ों को छोड़ कर मैदानी भाग में आती है. यहां के मंदिर और आश्रम दुनिया भर में मशहूर है. इस धार्मिक शहर का वर्णन पुराणों में कई जगह मिलता है.
 
ऋषिकेश का त्रिवेणी घाट हिन्दू धर्म का अत्यंत पावन स्थल है. यहां पवित्र स्नान करने लोग दूर-दूर से आते हैं. यहां तीन देव नदियों का संगम है और कहा जाता है कि यहां स्नान करने से आप का शरीर निरोग हो जाता है. ऋषिकेश यानी विष्णु.
 
इस शहर का नाम यहां पर स्थित सतयुग के ऋषिकेश नारायण के मंदिर पर पड़ा. यहां स्थापित नारायण की प्रतिमा अत्यंत कल्याणकारी मानी जाती है. ये काले शालीग्राम पत्थर की स्वयंभू प्रतिमा है. मां गंगा के सबसे निर्मल स्वरूप के दर्शन ऋषिकेश में होते हैं. यह वही पावन भूमि है जिसे छूते हुए मां गंगा पहाड़ों के नीचे उतर देश के उत्तरी मैदानी इलाके में प्रवेश करतीं हैं.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: