इंदौर. मालवा में स्थित है विश्व प्रसिद्ध खजराना का गणेश मंदिर. इस मंदिर का निर्माण 1735 में होल्कर वंश की महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने कराया था. कहा जाता है कि जो भी श्रद्धालु अपनी मनोकामना के साथ इस मंदिर में आता है उसकी कामना अवश्य पूरी होती है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बुधवार को होती है भक्तों की भीड़
वैसे तो मंदिर में रोजाना पूजा होती है. 24 घंटे अखण्ड पाठ भी होता है, लेकिन बुधवार के दिन मंदिर में भक्तों की खासी भीड़ होती है. इस दिन करीब डेढ़ लाख श्रद्धालुओं पहुंचते हैं. गणेश जी की मंदिर के अलावा मंदिर परिसर में 33 और मंदिर हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
यहां के लोगों की मान्यता है कि कोई भी शुभ कार्य खजराना के गणेश जी को न्योता दिए बिना पूर्ण नहीं हो सकता, इसलिए किसी भी शुभ कार्य से पहले भक्तगण खजराना मंदिर में न्योता जरूर भेजते हैं, चाहे शादी करनी हो, घर बनवाना हो या फिर गृह प्रवेश ही क्यों न हो. मंदिर के बारे में विस्तार से जानने के लिए देखिए इंडिया न्यूज का शो धर्म चक्र.