नई दिल्ली. देवों के देव है महादेव. हिन्दू धर्म में शिव का अति विशिष्ठ स्थान है. इस धरा पर कई नामो से पूजे जाते है भोलेनाथ. कोई इन्हे शंकर कहता है, कोई रुद्र, तो कोई नीलकंठ. तंत्र साधना में भोले को  भैरव के नाम से जाना जाता है. तो वेदों में रुद्र कहे जाते है शंकर.

महादेव मनुष्य की चेतना के अन्तर्यामी है. महादेव की अर्धांगिनी है पार्वती, जो शक्ति स्वरूपा है. हिन्दू धर्म में शिव और पार्वती के विवाह को महाशिवरात्री के रूप में मनाया जाता है. धर्मचक्र के इस खास एपीसोड में हम आज शिव के लिए पार्वती की तपस्या, त्याग और प्रेम की कहानी सुनाने जा रहे है.

वीडियो में देखें पूरा शो