शंघाई. जैसे-जैसे दुनिया में तनाव बढ़ता जा रहा है, दुनिया के अंदर काम का दबाव बढ़ता जा रहा है, वैसे-वैसे योग प्रचलित होता जा रहा है. कुछ ही सालों में चीन में योग ने इतनी तेजी से पैर पसारे हैं कि अब शंघाई में योग के कई सारे सेंटर भी खुल चुके हैं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बात केवल शंघाई की ही नहीं है चीन में अगर आप किसी गांव में, किसी छोटे शहर में, किसी औद्योगिक कस्बे में या किसी बाजार में योग सीखने जाएं तो आपको यह मालूम पड़ जाएगा कि योग को मानने समझने वाले लोग चीन में बड़ी तादाद में बढ़ते जा रहे हैं.
 
चीन में लोगों के बीच योग की लोकप्रियता इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि चीन के 9 शहरों में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किए गए थे. इस मौके पर हजारों चीनियों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. चीन में प्राणायाम, वीरभद्र, कपाल भाती जैसे योग काफी प्रचलित हो चुके हैं. इतना ही नहीं चीन में लोग सूर्य नमस्कार का महत्व भी योग सेंटर पर समझ रहे हैं.
 
चीन के 57 शहरों और 17 राज्यों में योग सिखाया जाता है. योगगुरु बाबा रामदेव भी चीन में योग सेंटर शुरु करने की तैयारी कर रहे हैं. चीन में लाखों लोगों ने योग को अपना लिया है. चीन में योग ने एक तरह से व्यवसाय का रूप ले लिया है. 
 
इंडिया न्यूज़ पर चीन में योग की लोकप्रियता पर देखिए दीपक चौरसिया की Exclusive Report.