नई दिल्ली. चीन के दौरे पर गये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज शियान एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत हुआ . बाद में पीएम मोदी टेरीकोटा वॉर मेमोरियल, द शिंग शान बौद्ध मंदिर और चीनी यात्री ह्वेन सांग की याद में बने वाइल्ड गूज पैगोडा पहुंचे . दोनों नेताओं की शिखर वार्ता में मोदी ने कहा कि भव्य सम्मान के लिए चीन का शुक्रिया. ये सवा सौ करोड़ भारतीयों का सम्मान है. मोदी ने वार्ता के दौरान जिनपिंग के सामने सीमा शांति और आतंकवाद का मुद्दा भी उठाया.

पीएम मोदी शियान के द शिंग शान मंदिर से निकले तो सड़क पर लोगों के बीच गए. यहां पर लोगों ने पीएम मोदी का हाथ हिलाकर स्वागत किया. सड़क पर मोदी-मोदी के नारे भी सुनाए दिए. इसके पहले पीएम मोदी शियान के टेराकोटा वॉक मेमोरियल म्यूजियम गए.
 
सरकार के सूत्रों के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच हुई बैठक के दौरान पीएम मोदी ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में चीन द्वारा किए जा रहे निवेश को लेकर चिंता जताई. इसके अलावा पीएम ने अरुणाचल प्रदेश के लिए चीन द्वारा स्टेपल्ड वीजा दिए जाने पर भी चिंता जताई. सूत्रों ने यह भी बताया कि मोटे तौर पर दोनों नेताओं के बीच खुलकर विचारों का आदान-प्रदान हुआ. बैठक में दोनों देशों का प्रतिनिधिमंडल भी शामिल हुआ.

पीएम मोदी सुबह शियान पहुंचे, जहां उनका भव्य स्वागत हुआ. चीनी राष्ट्रपति प्रोटोकॉल तोड़कर पहली बार राजधानी बीजिंग के बाहर किसी विदेशी मेहमान के स्वागत के लिए पहुंचे. शियान में पीएम मोदी टैराकोटा वारियर्स म्यूज़ियम देखने गए और इसके बाद डाजिंगशन मंदिर में उन्होंने दर्शन किए. जिनपिंग और पीएम मोदी की डिनर पर फिर मुलाकात होगी. इसके बाद पीएम बीजिंग के लिए रवाना होंगे, जहां वह रात 8 बजे पहुंचेंगे.  अपने तीन दिन के चीन दौरे के बाद प्रधानमंत्री मोदी मंगोलिया और दक्षिण कोरिया भी जाएंगे.

IANS