हनोवर/नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जर्मनी यात्रा का आज दूसरा दिन है. आज पीएम मोदी हैनोवर व्यापार मेले में भारतीय मंडप का उद्घाटन करेंगे. भारतीय मंडप का उद्घाटन करने के बाद भारत और जर्मनी बिजनेस समिट के उद्घाटन में शामिल होंगे. इसके बाद आज ही हैनोवर से बर्लिन के लिए रवाना होंगे.
 
मैसे हैनोवर व्यापार मेला दुनिया का सबसे बड़ा औद्योगिक मेला कहा जाता है. 13 से 17 अप्रैल तक चलने वाले इस मेले में भारत पहली बार बड़े स्तर पर भागीदारी कर रहा है. जर्मनी में पहले दिन पीएम मोदी ने किया हैनोवर व्यापार मेले का उद्घाटन किया औऱ वहां के लोगों से की भारत आने और मेक इन इंडिया अभियान से जुड़ने की अपील की. व्यापार मेले के उद्धाटन भाषण में मोदी ने कहा कि मेक इन इंडिया कैंपेन ने दुनिया भर में पहचान हासिल की है. उन्होंने कहा कि भारत में व्यवस्था का कायापलट करने का काम ‘बड़ा’ है और इसे रातों-रात पूरा नहीं किया जा सकता. हालांकि, उन्होंने जोर दिया कि सरकार उस दिशा में दृढ़ता से बढ़ रही है और इसे किया जाएगा.
 
जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के साथ हनोवर व्यापार मेले का उद्घाटन करते हुए मोदी ने कहा कि उनकी सरकार अनावश्यक नियमनों को हटा रही है और प्रक्रियाओं को सरल बना रही है ताकि देश में व्यापार करना आसान हो सके और विदेशी कंपनियां ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम में भागीदारी करने में सक्षम हो सकें. उन्होंने जर्मनी और दुनिया के अन्य हिस्सों के शीर्ष व्यापारिक नेताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘आज, मैं भारत की निर्बाध आर्थिक संभावनाओं को खोलने के मेरे अपने मिशन के लिए जर्मनी की भागीदारी मांगने आया है. दुनिया के उद्योग जगत से जो लोग आज यहां जुटे हैं, उनसे मैं कहता हूं कि आज हमारे मेजबान के लिए हमारे मन में कोई विशेष पूर्वाग्रह नहीं है. भारत दुनिया को गले लगाने को तैयार है.’’ 
 
दुनिया के विभिन्न देशों की अपनी यात्रा का हवाला देते हुए मोदी ने कहा कि भारत में व्यापार, निवेश और नवोन्मेष की भागीदारी निर्मित करने में उन्होंने ‘एक नए स्तर की दिलचस्पी’ देखी है. उन्होंने कहा, ‘‘यह अवसर और प्रगति के लिए हमारे अपने लोगों और उद्योग में बढ़ी हुई उम्मीद का आईना है, हमारे 80 करोड़ युवाओं में उम्मीद की नयी लहर है. और अगर हम हमारे युवाओं के सपनों को पूरा करना चाहते हैं तो हमें अपने उद्योग को दुनिया के लिए विनिर्माण केंद्र और स्वदेश में रोजगार के इंजन के रूप में बदलना होगा. और हमें अपने युवाओं को अवश्य कौशल से लैस करना होगा ताकि अपने देश की आवश्यकताओं और भूमंडलीकृत दुनिया की मांगों को पूरा कर सकें.’’
 
प्रधानमंत्री के संबोधन से पहले भारतीय संस्कृति पर आधारित गीत-संगीत और नृत्य का विशेष कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया. जर्मनी दौरे के अपने पहले दिन गांधी मूर्ति के अनावरण के मौके पर मौजूद रहे प्रधानमंत्री मोदी. पीएम ने मेयर और छात्रों से भी की मुलाकात है. जर्मनी में हैनोवर व्यापार मेले में पीएम मोदी ने भारत को दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्था बताया औऱ कहा कि दुनिया की जरूरतें हिंदुस्तान के नौजवान पूरी कर सकते हैं.

IANS