नई दिल्ली. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने याकूब मेमन की फांसी पर एक बेहद विवादस्पद बयान दिया है. थरूर ने ट्वीट का याकूब की फांसी पर सवाल उठाए हैं और कहा है कि राज्य प्रायोजित हत्याओं से हम कातिलों की लिस्ट में आ गए हैं. सरकार के एक व्यक्ति को फांसी पर चढ़ाने की खबर से मैं दुखी हूं. 

Saddened by news that our government has hanged a human being. State-sponsored killing diminishes us all by reducing us to murderers too.

— Shashi Tharoor (@ShashiTharoor) July 30, 2015

थरूर ने अगले ट्वीट में कहा कि यह साबित हो चुका है कि मौत की सजा से न्याय व्यवस्था को किसी भी तरह का फायदा नहीं पहुंचता है. थरूर से तीसरे ट्वीट में कहा कि हम सभी को आतंकवाद के खिलाफ लड़ना चाहिए पर राज्य प्रायोजित हत्याएं भी आतंकवाद की श्रेणी में ही आती हैं.

There is no evidence that death penalty serves as a deterrent: to the contrary in fact. All it does is exact retribution: unworthy of a Govt

— Shashi Tharoor (@ShashiTharoor) July 30, 2015

We must fight against terrorism w/all the means at our command. But cold-blooded execution has never prevented a terror attack anywhere.

— Shashi Tharoor (@ShashiTharoor) July 30, 2015