नई दिल्ली. आज से संसद का मानसून सत्र शुरु हो रहा है. मानसून सत्र में राज्यसभा में हंगामे के आसार दिख रहे हैं. हालांकि मोदी सरकार भी इस हंगामें से दो-दो हाथ करने के लिए तैयार है. रविवार को हुई की बैठक में NDA के घटक दल इसपर अपना समर्थन जता चुके हैं. संसद का मानसून सत्र आज से शुरु हो रहा है. 13 अगस्त तक चलने वाला इस मानसून सत्र में आज जहां राज्यसभा में व्यापम और ललितगेट पर हंगामे के आसार हैं, वहीं श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बाद लोकसभा स्थगित रहेगी.

विपक्ष सरकार को घेरने की तैयारी में
वहीं तृणमूल कांग्रेस ने भी साफ तौर पर कहा है कि वो संसद के मानसून सत्र में व्यापम, ललितगेट जैसे भ्रष्टाचार के मुद्दों पर मोदी सरकार को घेरेगी. आपको बता दें कि तृणमूल कांग्रेस जमीन बिल का भी विरोध कर रही है. इस मानसून सत्र में सरकार GST और रियल इस्टेट रेग्यूलेटरी बिल पास कराने की कोशिश करेगी वहीं जमीन बिल इस सत्र में नहीं आएगा.

GST फिर होगा पेश
आपको बता दें कि राज्यसभा की सेलेक्ट कमेटी में गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स बिल की रिपोर्ट मंजूर हो गई है. यह रिपोर्ट 24 जुलाई को पेश हो सकती है. वहीं जमीन बिल पर संसदीय समिति को रिपोर्ट देने के लिए और वक्त मिला, अब रिपोर्ट अगस्त के पहले हफ्ते में आएगी. कैबिनेट मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने कहा है कि सरकार संसदीय समिति ने ज्यादा बदलाव किए तो नया जमीन बिल ला सकती है.

NDA की बैठक में PM ने मांगा सहयोगियों का साथ
सूत्रों के मुताबिक एनडीए की बैठक में पीएम मोदी ने माना है कि किसानों के बीच सरकार की छवि खराब हुई है. इसके साथ ही बैठक में शिवसेना ने NDA के संयोजक की मांग उठाई जिस पर पीएम मोदी ने एकजुटता दिखाने के लिए कहा. सूत्रों के मुताबिक NDA के घटक दलों ने व्यापम और ललितगेट कांड में किसी को नहीं हटाने के बीजेपी के फैसले का समर्थन किया. संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नाय़डू ने कहा, सुषमा स्वराज ललितगेट कांड पर संसद में बयान देने के लिए तैयार हैं.

कांग्रेस मांग रही है सुषमा-वसुंधरा का इस्तीफा
वहीं कांग्रेस संसद सत्र से पहले मोदी सरकार की घेराबंदी में जुटी है. कांग्रेस ने सुषमा, वसुंधरा और शिवराज का इस्तीफा मांगा है. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा है कि पीएम भ्रष्टाचारियों के चौकीदार बने हुए हैं. सूत्रों की मानें तो लोकसभा की कार्यवाही स्थगित होने के बाद मानसून सत्र की रणनीति पर चर्चा के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी आज पार्टी सांसदों के साथ बैठक करेंगी.
 
इसी बीच पीएम मोदी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि मजदूरी देखने के लिए कैमरे की जरूरत नहीं होती. पीएम ने कहा कि मैंने गरीबी देखी है और मैं दर्द को समझता हूं. आपको बता दें कि कुछ समय पहले मीडिया में मजदूरों के साथ राहुल गांधी की एक पोटो आई थी जिसपर पीएम मोदी ने तंज कसा. वहीं कांग्रेस नेता शोभा ओझा की अगुवाई में आज महिला कांग्रेस संसद के पास प्रदर्शन करेगी. उनका आरोप है कि मोदी सरकार ने चुनावी वादे पूरे नहीं किए.

एजेंसी इनपुट भी