नई दिल्ली. देश की सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली दिल्ली की तिहाड़ जेल से दो कैदियों ने फरार होने की कोशिश की. इस कोशिश में एक कैदी तो कामयाब रहा, लेकिन दूसरे की किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया और उसे दबोच लिया गया. मामला शनिवार का है जब तिहाड़ की जेल नंबर 7 में बंद जावेद और फैजान ने पहले जेल नंबर 7 की दीवार फांदी और फिर जेल नंबर 8 की दीवार तोड़कर उसमें सुरंग बनाकर बाहर निकल गए. जेल 8 से लगे नाले से जावेद तो फरार होने में कामयाब रहा लेकिन फैजान को दबोच लिया गया.

शनिवार को ही कैदियो की गिनती के वक़्त इनके फरार होने की बात सामने आई. जावेद दक्षिण दिल्ली से चोरी के एक मामले में पिछले क़रीब दो महीने से जेल में बंद था. जबकि पुलिस फैजान के रिकॉर्ड की जांच कर रही है. जेल प्रशासन ने हरिनगर थाने में रविवार रात 11 बजे मामला दर्ज करवाया है. हरिनगर पुलिस ने टीम गठित करके जावेद की तलाश शुरू कर दी है और मामले की जांच कर रही है. सवाल ये है कि देश की सबसे हाईटेक जेल में कैदियो के पास दीवार तोड़ने वाले औज़ार कहां से आए? इतनी चौकसी होने के बावजूद कैदी फरार होने में कैसे कामयाब रहे? कैदी के फरार होने से तिहाड़ जेल प्रशासन पर सुरक्षा में चूक के सवाल खड़े हो गए हैं.