नई दिल्ली. करप्शन के आरोपों के बाद देश से बाहर रह रहे आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की मदद करने के आरोपों के बीच नए-नए खुलासे होना लगातार जारी है. एक नए खुलासे में यह बात सामने आई है कि पुर्तगाल में इलाज़ के लिए किसी तरह के कंसेंट पेपर की ज़रुरत ही नहीं होती है. इससे पहले पता चला था कि ललित मोदी ने सुषमा के रिश्तेदारों को फायदा पहुंचाया था और उनकी बेटी बांसुरी ही ललित का केस भी लड़ रहीं थीं. 

हालांकि सुषमा स्वराज के बचाव में आरएसएस और बीजेपी आ गई हैं. उधर, सुषमा स्वराज ने रविवार शाम दोबारा से ट्वीट करके इस मामले पर सफाई दी. इससे पहले सुषमा ने लिखा था ”मैंने ललित मोदी को क्या फायदा पहुंचाया? यही कि कैंसर से पीड़ित उनकी पत्नी की सर्जरी के लिए वे कंसेंट पेपर्स पर साइन कर सकें. वह लंदन में ही थे. पत्नी की सर्जरी के बाद लंदन वापस आ गए. मैंने इसमें क्या बदल दिया?” सुषमा पर ललित मोदी को ब्रिटेन से पुर्तगाल का ट्रेवल डॉक्युमेंट्स दिलाने में मदद का आरोप है.