नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के विधायक पंकज पुष्कर ने जितेंद्र तोमर मामले से निपटने के तरीके को लेकर पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर शनिवार को निशाना साधा और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से लोगों से ‘माफी मांगने’ के लिए कहा. आप से निकाले गए नेता योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण का पूर्व में सार्वजनिक रूप से पक्ष लेने वाले पुष्कर ने कहा कि मामला जब पहली बार सामने आया था तब ही पार्टी को तोमर के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए थी.

उन्होंने कहा, ‘तथ्य चार महीने पहले सामने आए थे. पार्टी ने तब ही उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की? अगर नेतृत्व ने उठ रही कुछ आवाजों पर ध्यान दिया होता तो इस स्थिति से बचा जा सकता था.’ पुष्कर ने कहा, ‘सबसे बड़ा नुकसान जनता के विश्वास को लेकर हुआ. पार्टी और अरविन्द केजरीवाल को निश्चित रूप से दिल्ली के लोगों से माफी मांगनी चाहिए.’

तिमारपुर के विधायक ने कहा कि बाहरी ताकतों द्वारा किसी चीज का खुलासा करने के लिए मजबूर करने का इंतजार करने की बजाए पार्टी में ‘खुद से खुलासा करने वाला’ तंत्र होना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘विशेष रवि (करोलबाग के विधायक), सुरिंदर सिंह (दिल्ली छावनी के विधायक) से जुड़े दूसरे मामलों को लेकर कार्रवाई की जानी चाहिए. संदेह के मामले में व्यक्ति को खुद ही तत्काल खुलासा करना चाहिए.’

पुष्कर ने कहा कि वह पार्टी के स्वराज, पारदर्शिता और नैतिकता के सिद्धांतों से स्पष्ट रूप से भटकने के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करना जारी रखेंगे. उन्होंने कहा, ‘मुझे अपने खिलाफ किसी कार्रवाई का डर नहीं है लेकिन मैं अपने सिद्धांतों के खिलाफ नहीं जा सकता.’ उन्होंने यादव और भूषण के स्वराज अभियान आंदोलन को अपना पूर्ण समर्थन देने की भी बात की.

IANS