नई दिल्ली. दिल्ली की केजरीवाल सरकार के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर को आम आदमी पार्टी से निकाला जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक तोमर को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है. हाल में दिल्ली के कानून मंत्री के पद से इस्तीफा देने वाले जितेंद्र सिंह तोमर के फर्जी डिग्री मामले में नया मोड़ आ गया है. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि सीएम अरविंद केजरीवाल इस मामले में पार्टी को गुमराह करने को लेकर तोमर से सख्त नाराज हैं. 

केजरीवाल ने मांगी थी सफाई 
सूत्रों ने बताया कि जब तोमर के फर्जी डिग्री मामले की शुरुआत हुई थी, तभी केजरीवाल ने उनसे लिखित में सफाई मांगी थी. तब तोमर की सफाई के बाद केजरीवाल संतुष्ट हो गए थे, लेकिन अब इस मामले में पुलिस ने जो नए खुलासे किए हैं, उससे केजरीवाल को लग रहा है कि तोमर ने उन्हें और पार्टी को पूरी तरह से गुमराह किया था.

प्रिंसिपल का दावा 
माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस तोमर को इस मामले के दस्तावेज जुटाने के लिए मुंगेर लेकर जाएगी. प्रिंसिपल के दावे के बाद तोमर का पक्ष कुछ हद तक मजबूत हो सकता है कि उन्होंने उनके कॉलेज से एलएलबी की परीक्षा पास की थी. अंग्रेजी अखबार टाइम्स इंडिया की खबर के मुताबिक प्रिंसिपल मिश्रा ने कहा, ‘उनके पास टैबुलेशन रजिस्टर शीट (TRS) की कॉपी सुरक्ष‍ित है, जो कॉलेज ने तिलका मांझी भागलपुर यूनिवर्सिटी भेजी थी.’ लेकिन ऑरिजनल शीट यूनिवर्सिटी में गुम हो चुकी है.’