नई दिल्ली. दिल्‍ली के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर फर्जी डिग्री मामले में सुबह गिरफ्तार होने के बाद बस अब कुछ ही देर में साकेत कोर्ट में पेश होने वाले हैं. उधर आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने दिल्ली पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. आशुतोष का कहना है कि दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार करने के दौरान तोमर से मारपीट की साथ ही कई दस्तावेजों पर जबरदस्ती सिग्नेचर भी करा लिए हैं.

तोमर को रिमांड पर मांगेगी पुलिस 
सूत्रों के मुताबिक, पुलिस तोमर को रिमांड पर ले सकती है. इस डिमांड को लेकर पुलिस उन्हें दोपहर में कोर्ट में पेश करेगी. इससे पहले, दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों ने मीटिंग की और तोमर को रिमांड पर लेने पर चर्चा की. उधर, आप ने आरोप लगाया है कि पुलिस तोमर पर सादे कागज पर दस्‍तखत करने के लिए दबाव बना रही थी. तोमर की गिरफ्तारी पर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि इमरजेंसी जैसे हालात हो गए हैं और बदला लेने के लिए यह कार्रवाई हुई है. 

ऐसे हुई गिरफ्तारी
दिल्‍ली पुलिस के एक एसीपी मंगलवार सुबह तोमर के दफ्तर कुछ कागजात जांचने के मकसद से गए. लेकिन कुछ देर बाद वह तोमर को लेकर निकले और उन्‍हें पहले हौज खास थाने ले गए और फिर वसंत विहार थाने ले गए. कहा जा रहा है कि फर्जी डिग्री मामले में केस वसंत विहार थाने में दर्ज है जहां थोड़ी देर की पूछताछ के बाद उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया. इसके बद आप नेता संजय सिंह ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया, ”अगर मामला डिग्री से संबंधित भी है तो क्या केंद्रीय मंत्री समृति ईरानी और रामशंकर कठेरिया को भी पुलिस बगैर सूचना और नोटिस के थाने लाएगी?”

IANS से भी इनपुट