नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इजराइल की यात्रा पर जाएंगे. वह इस यहूदी देश की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे, जिसके साथ द्विपक्षीय रक्षा सहयोग में प्रगति हो रही है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि मोदी की यात्रा के लिए कोई तारीख तय नहीं की गई है और यह परस्पर सुविधाजनक तारीख में होगी. उन्होंने बताया कि इस साल वह भी फलस्तीन और जॉर्डन के अलावा इजराइल जाएंगी.

भारत ने 1992 में इस्राइल के साथ पूर्ण राजनयिक संबंध स्थपित किए थे. किसी भारतीय प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति ने कभी उस देश का दौरा नहीं किया. साल 2003 में तत्कालीन इजराइली प्रधानमंत्री एरियल शेरोन भारत की यात्रा पर आने वाले उस देश के पहले प्रधानमंत्री थे. उन्हें द्विपक्षीय संबंधों को रक्षा और व्यापार सहयोग से आज के रणनीतिक संबंधों तक विस्तार देने का श्रेय दिया जाता है.

सुषमा ने संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘जहां तक मेरी यात्रा की बात है, वह इस साल होगी. मैं इजराइल, फिलिस्तीन और जॉर्डन जाउंगी. जहां तक प्रधानमंत्री की यात्रा की बात है तो वह इजराइल जाएंगे. तारीख अभी तय नहीं हुई हैं. आपसी सुविधा के अनुसार तारीख तय की जाएगी’. उन्होंने यह भी कहा, ‘फिलिस्तीन के प्रति भारत की नीति में कोई बदलाव नहीं है’.

IANS