सियोल. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना तीन देशों का दौरा खत्म कर आज दक्षिण कोरिया से भारत के लिए रवाना हुए. प्रधानमंत्री भारतीय समयानुसार रात करीब 11:30 बजे भारत पहुंचेंगे. इससे पहले वैश्विक निवेशकों को आमंत्रित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपेक्षाकृत अधिक स्थिर और भरोसेमंद कराधान प्रणाली का वायदा किया और कहा कि उनकी सरकार भारत को कारोबार के लिए सुगम गंतव्य बनाने के लिए पूरे जोश-खरोश के साथ काम कर रही है.

मोदी ने अपनी तीन देशों की यात्रा के आखिरी दिन दक्षिण कोरिया के मुख्य कार्यकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने पिछले एक साल में राजनीति, शासन प्रणाली और अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में भारत की वैश्विक प्रतिष्ठा बहाल की है. उन्होंने कहा लेकिन हम यहीं नहीं ठहरने वाले हैं. हमें बहुत बेहतर करना है और हम करेंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) महत्वपूर्ण है और यह वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी कारोबारी माहौल के बिना भारत नहीं आएगा. उन्होंने कहा इसलिए हम भारत को कारोबार के लिहाज से बेहद सुगम गंतव्य बनाने की दिशा में पूरे जोश-खरोश के साथ काम कर रहे हैं. सूचना प्रौद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स, इस्पात निर्माण, रेलवे, पोत निर्माण और आवास जैसे क्षेत्रों में कोरियाई कंपनियों के साथ गठजोड़ की आकांक्षा जताते हुए मोदी ने कहा कोरियाई निवेशकों के सहयोग के लिए एक प्रतिबद्ध प्रणाली तैयार की जा रही है.

मोदी ने कहा इसे कोरिया प्लस के तौर पर जाना जाएगा। इसके अलावा मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि यदि कोई समस्या होती है तो मैं व्यक्तिगत तौर पर इस पर ध्यान दूंगा. भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने पिछले 11 महीने में कारोबारी माहौल में सुधार और निवेशकों का भरोसा बढ़ाने के लिए कई पहलें की हैं.

IANS