पटना. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा है कि नीतीश कुमार और लालू यादव मिलकर सरकार चला लें तो यही बड़ी बात होगी. उन्होंने कहा कि दोनों पूरब-पश्चिम हैं और एक होने का स्वांग कर रहे हैं. मांझी ने कहा कि एनडीए ने सीएम का कैंडिडेट बताया होता तो नतीजा अच्छा होता.
 
मांझी ने जनता के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि उनकी पार्टी निष्पक्ष और सक्रिय विपक्ष की भूमिका में रहेगी. उन्होंने कहा कि आरक्षण, दाल, पाकिस्तान में पटाखा, डीएनए जैसे कई मुद्दे पर एनडीए अपनी बात सही तरीके से रख नहीं पाया और महागठबंधन ने लोगों को भरमा दिया.
 
उन्होंने कहा कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने आरक्षण की समीक्षा की बात कही थी, न कि उस पर पुनर्विचार की. मांझी ने कहा कि भागवत की भावना गलत नहीं थी, बस टाइमिंग गलत थी. मांझी ने कहा कि अब वो अपनी पार्टी को पंचायत स्तर तक ले जाएंगे.