पटना. लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान के परिवार से बिहार विधानसभा चुनाव में उतरे चारों उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ा है. ये सभी LJP के टिकट से ही मैदान में थे. पासवान के दामाद अनिल साधू की तो बोचहा सीट से जमानत भी ज़ब्त हो गयी है. 
 
 
रामविलास पासवान के भतीजे प्रिंस राज समस्तीपुर जिले की कल्याणपुर सीट से हार के करीब हैं. प्रिंस LJP के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट से JDU के महेश्वर हजारी करीब 30 हज़ार वोटों से जीत रहें हैं. हजारी भी पासवान के ही रिश्तेदार हैं. प्रिंस राज रामविलास के भाई रामचंद्र पासवान के बेटे हैं जो समस्तीपुर से LJP के सिटिंग एमपी हैं.
 
 
रामविलास पासवान के भाई पशुपति पारस खगड़िया जिले की अलौली सीट पर 24 हज़ार वोटों से पीछे चल रहे हैं. उनकी हर अब तय माँनी जा रही है. पारस LJP से चुनाव लड़ रहे हैं और इस सीट पर RJD के चंदन कुमार के हाथों हारने वाले हैं.
 
LJP के टिकट पर चुनाव लड़ रहे रामविलास पासवान के दामाद अनिल साधु को मुजफ्फरपुर की बोचहा सीट पर शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा है. वे करीब 7000 वोटों के साथ चौथे नंबर पर हैं और उनकी जमानत ज़ब्त होना तय है. बोचहा से निर्दलीय उम्मीदवार बेबी कुमारी जीत से कुछ ही कदम दूर है. 
 
LJP के टिकट पर चुनाव लड़ रहे रामविलास के दामाद धनंजय का दरभंगा ज़िले की कुशेश्वर सीट से हारना तय है. JDU के शशिभूषण हजारी उनसे करीब 20 हज़ार से ज्यादा वोटों से आगे है.