पटना. बिहार विधानसभा चुनावों में आज पांचवे चरण की वोटिंग शुरू हो गयी है. इस दौर में 57 विधानसभा क्षेत्रों के करीब 1.55 करोड़ मतदाता, 58 महिला प्रत्याशियों समेत 827 प्रत्याशियों के राजनीतिक भविष्य का फैसला करेंगे. आज के मतदान के बाद कई दिग्गज नेताओं की किस्मत ईवीएम मशीनों में बंद हो जाएगी. पांचवे चरण में वर्तमान सरकार के मंत्रियों जैसे वित्त मंत्री विजेंद्र यादव, नरेंद्र यादव, दुलालचंद गोस्वामी जैसे दिग्गजों की किस्मत दांव पर होगी.
 
बिहार चुनाव के पांचवें चरण में मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, मधेपुरा, सहरसा और दरभंगा जिले में वोटिंग होगी. आयोग के अनुसार, इस चरण में 1,55,43,594 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनके लिए 14,709 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं.
 
इस चरण में वोटर्स मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव, नरेन्द्र नारायण यादव, लेसी सिंह, दुलाल चंद्र गोस्वामी, बीमा भारती, नौषाद आलम, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अब्दुल बारी सिद्दीकी, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता नीतीश मिश्रा, विनोद नारायण झा, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के रामनरेश पांडेय जैसे दिग्गजों के भाग्य का फैसला करेंगे. 
 
इस चुनाव में सत्ताधरी महागठबंधन और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के अलावा वामपंथी दल एक अलग मोर्चा बनाकर, जबकि समाजवादी पार्टी के नेतृत्व में जन अधिकार पार्टी समेत कई अन्य राजनीतिक दल एक अलग गठबंधन के तहत ताल ठोक रहे हैं. इस चरण के चुनाव में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) भी चुनावी मैदान में है. 
 
मतदान को लेकर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं. राज्य निर्वाचन विभाग के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी आऱ लक्ष्मणन ने बताया कि सभी 57 विधानसभा क्षेत्रों में शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा. मतदान के दिन क्षेत्र के सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है. 
 
उन्होंने बताया कि भारत-नेपाल सीमा को सील कर दिया गया है तथा चौकसी बढ़ा दी गई है. सभी मतदान केन्द्रों पर केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों के जवानों की तैनाती की गई है. केन्द्रीय सुरक्षा बलों (सीआरपीएफ) तथा राज्य पुलिस की 1,033 कंपनियां नियुक्त की गई हैं. 5,518 संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर अतिरिक्त सुरक्षा के प्रबंध किए गए हैं.