पूर्णिया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को पूर्णिया में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए नीतीश-लालू के साथ कांग्रेस पर भी निशाना साधा. उन्होंने रैली में 1984 दंगों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद सिखों का कत्ल-ए-आम किया गया और वही कांग्रेस आज ‘टॉलरेंस’ पर भाषण दे रही है. अभी तक सिखों के आंसू नहीं पोछे गए हैं, वो हमें सहिष्णुता का पाठ पढ़ा रहे हैं. उन्हें सहिष्णुता के बारे में बोलने का अधिकार नहीं है.
 
उन्होंने महागठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि माताओं और बहनों की भारी तादाद को देखकर सभी को आश्चर्य हो रहा है, लेकिन बिहार में ‘जंगलराज’ को लेकर माताओं और बहनों का गुस्सा सातवें आसमान पर है. मोदी ने एक बार फिर नीतीश और लालू से हिसाब मांगते हुए कहा कि लोकतंत्र में चुनाव के समय जनता को हिसाब देना होता है.
 
उन्होंने कहा कि 15 साल तक लालू ने और 10 साल तक नीतीश ने राज किया. 25 साल का समय कम नहीं होता. मेरी सरकार को 25 महीने भी नहीं हुए और ये मेरा हिसाब मांग रहे हैं. खुद 25 साल का हिसाब देने को तैयार नहीं हैं और दिन-रात मुझसे हिसाब मांगते हैं.
 
मोदी ने एनडीए की जीत का दावा करते हुए कहा कि नीतीश और लालू, आपको जितना खेल खेलना है खेलो. आठ नवंबर को लोग चारों तरफ दीवाली मनाएंगे.