पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लेने के साथ ही दावा किया कि बिहार चुनाव में ‘पराजय’ का एहसास होने के बाद से एनडीए में ‘बेचैनी’ है. बता दें कि बीजेपी नेता राजीव प्रताप रूड़ी और सुशील कुमार मोदी ने नीतीश पर आरोप लगाया था कि वे पाकिस्तानी वेबसाइट्स पर वोट मांग रहे हैं, नीतीश ने इसका भी मोदी को करारा जवाब दिया है.
 
 
जेडीयू की रूड़ी को तत्काल बर्खास्त करने की मांग के बीच नीतीश कुमार ने ट्विटर पर कहा कि बिहार में पराजय देख रही सरकार के डिजीटल इंडिया की बात करने वाले नेता और मंत्री बेचैन हैं और गूगलएड को पाकिस्तानी दैनिक डॉन का विज्ञापन बता रहे हैं. मोदी जी कम से कम अपने नेताओं को डिजीटल दुनिया के आधारभूत तथ्यों से तो अवगत कराएं. मुख्यमंत्री ने कटाक्ष करते हुए कहा कि गूगल इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचाई इस मामले में उनकी मदद कर सकते हैं. मोदी ने पिछले महीने पिचाई को गूगल के शीर्ष पद पर नियुक्ति के लिए बधाई दी थी.
  
रूड़ी केन्द्र में कौशल विकास मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) है. वह उस समय विवाद में घिर गये जब उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर डॉन की वेबसाइट का स्क्रीनशाट शेयर किया, जिसमें नीतीश कुमार का एक चुनावी विज्ञापन दिखाया गया है. रूड़ी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘बिहार में मतदाताओं को लुभाने के लिए पाकिस्तान के दैनिक डॉन के ई संस्करण में नीतीश का विज्ञापन . पाक क्यों? वह किनसे बात करना चाहते हैं ? ’’ हालांकि सोशल मीडिया पर इस टिप्पणी को लेकर विवाद खड़ा हो गया, जिसके बाद रूड़ी ने अपने पोस्ट को हटा दिया.