पटना. केंद्रीय वित्त मंत्री और बीजेपी नेता अरुण जेटली ने गुरुवार को महागठबंधन को हताश लोगों का जमावड़ा करार देते हुए कहा कि जेडी (यू) के लिए यह चुनाव अवसरवादी राजनीति का आखिरी दांव है. जेटली ने पटना में कहा कि जहां कांग्रेस बिहार में अपना अस्तित्व बचाने की लड़ाई लड़ रही है, वहीं आरजेडी की पुरानी पीढ़ी जब चुनाव लड़ने में असमर्थ हो गई तब नई पीढ़ी को खड़ा करने के लिए वह इस चुनाव मैदान में उतरी है.
 
जेटली ने बिहार चुनाव के तीसरे चरण के मतदान के बाद बीजेपी को अकेले बहुमत मिलने का दावा करते हुए कहा. उन्होंने कहा कि अगले दो चरणों में मतदाता एनडीए को वोट देंगे.
 
उन्होंने इस चुनाव को प्रभावित करने वाले कारणों का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता लोगों को एनडीए की ओर आकर्षित कर रही है. लोग यह भी चाहते हैं कि केंद्र व राज्य सरकार साथ मिलकर काम करे, इसलिए भी बिहार के लोग एनडीए की ओर आकर्षित हो रहे हैं.
 
उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के लालू प्रसाद से हाथ मिला लेने के बाद लोगों को लगने लगा है कि नीतीश विकास के एजेंडे से भटक गए हैं. उन्होंने यह भी कहा कि बिहार के युवा जातीय और सामाजिक एजेंडे से ऊपर उठकर मतदान कर रहे हैं, जो एनडीए के पक्ष में है.
 
IANS