पटना. दूसरे चरण में पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा अध्यक्ष जीतन राम मांझी और विधानसभा अध्यक्ष और जदयू नेता उदय नारायण चौधरी के बीच होने वाले चुनाव को ‘क्लैश ऑफ़ टाइटंस’ भी कहा जा रहा है. इमामगंज की सीट पर दोनों ही बड़े नेता आमने-सामने है. इसके आलावा बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रेम कुमार, रामेश्वर चौरसिया और मांझी के पुत्र संतोष कुमार का राजनीतिक भविष्य भी दांव पर है. 
 
 
VIP कैंडिडेट्स:
 
जीतनराम मांझी- जीतनराम मांझी गया जिले की इमामगंज और जहानाबाद जिले की मखदुमपुर सीट से लड़ रहे हैं. दोनों सीटें एससी के लिए आरक्षित हैं. इमामगंज हाईप्रोफाइल सीट है जहां इस फेज का क्लैश ऑफ टाइटन्स है. मांझी विधानसभा के स्पीकर उदय नारायण चौधरी से भिड़े हैं. मखदुमपुर में मांझी का मुकाबला आरजेडी के सूबेदार दास से है जो घूसकांड के स्टिंग में अवधेश कुशवाहा के साथ पैसा लेते देखे गए हैं.
 
उदय नारायण चौधरी- विधानसभा के स्पीकर उदय नारायण चौधरी गया जिले की इमामगंज सीट से लड़ रहे हैं. मुकाबला जीतनराम मांझी से है.
 
संतोष कुमार सुमन- जीतनराम मांझी के बेटे और पार्टी के प्रधान महासचिव संतोष कुमार सुमन औरंगाबाद जिले की कुटुम्बा सीट से लड़ रहे हैं.
 
देवेंद्र मांझी- गया जिले की बोधगया सीट से मांझी के दामाद देवेंद्र मांझी निर्दलीय लड़ रहे हैं. इनको सिंबल मिला है टेलीफोन जो हम का सिंबल है.
 
ज्योति मांझी- जीतनराम मांझी की समधन ज्योति मांझी गया जिले की बाराचट्टी सीट से लड़ रही हैं.
 
राजेंद्र सिंह- रोहतास जिले की दिनारा सीट से लड़ रहे आरएसएस प्रचारक रहे राजेंद्र सिंह के बारे में कहा जा रहा है कि वो बिहार के मनोहर लाल खट्टर भी साबित हो सकते हैं. राजेंद्र सिंह लोकसभा चुनाव में झारखंड में पार्टी की जीत के आरएसएस की तरफ से चीफ आर्किटेक्ट थे. इस समय बिहार में बीजेपी ने चुनाव के लिए जो 4 जोन बनाए हैं उसमें एक जोन का प्रभार राजेंद्र सिंह के पास है. उनके जोन में 9 जिले की 58 सीटें हैं.
 
रामेश्वर चौरसिया- बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय सचिव रामेश्वर चौरसिया रोहतास जिले की नोखा सीट से लड़ रहे हैं.
 
अभय कुशवाहा- गया की टेकारी सीट से जेडीयू कैंडिडेट हैं अभय कुशवाहा. इनका पोल डांस का वीडियो वायरल हुआ है जिसमें एक बार डांसर के साथ वो एक खंभे के इधर-उधर डांस कर रहे हैं.
 
विनोद यादव- नीतीश सरकार में पंचायती राज मंत्री विनोद यादव गया जिले की शेरघाटी सीट से लड़ रहे हैं.
 
जय कुमार सिंह- रोहतास जिले की दिनारा सीट से राज्य के सहकारिता मंत्री जय कुमार सिंह लड़ रहे हैं.
 
अंबिका यादव- कैमूर जिले की रामगढ़ सीट जगदानंद सिंह का इलाका है. पिछले चुनाव में जगदानंद सिंह के पुत्र सुधाकर सिंह बीजेपी के टिकट पर लड़े थे तो जगदानंद सिंह ने आरजेडी के कैंडिडेट अंबिका यादव की जीत सुनिश्चित की. इस बार भी अंबिका सिंह मैदान में हैं. बीजेपी ने कैंडिडेट चेंज करके अशोक सिंह को उतारा है.
 
रामधनी सिंह- नीतीश सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे रामधनी सिंह को जेडीयू ने टिकट नहीं दिया तो वो सपा के टिकट पर करगहर सीट से लड़ रहे हैं.