पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्टिंग वीडियो को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दिए बयान की निंदा की है. इस वीडियो में राज्य के एक मंत्री को चुनाव लड़ने के लिए कथित रूप से धन लेते दिखाया गया है. नीतीश ने एक ट्वीट कर कहा कि बिहार में हार से घबराए मोदी साहस दिखाने और भ्रष्टाचार की बात करने को मजबूर हुए हैं जबकि अभी तक ललितगेट एवं व्यापम उनके भाषणों में शामिल नहीं था.
 
नीतीश के एक और ट्वीट में कहा कि हम देख चुके हैं कि उन्होंने ललितगेट एवं व्यापम में क्या किया. मोदीजी जो उपदेश देते हैं अंतिम बार उसका पालन उन्होंने कब किया. मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी पीएम के उस बयान के बाद आई है. जो उन्होंने चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए दिया था. उन्होंने धर्मनिरपेक्ष गठबंधन के सभी नेताओं के बारे में कहा था कि उन्हें कोई शर्म नहीं आती. 
 
प्रधानमंत्री का यह बयान उस स्टिंग वीडियो की ओर संकेत था जिसमें जेडीयू मंत्री अवधेश प्रसाद कुशवाहा को कथित रूप से रिश्वत लेते हुए दिखाया गया है. नीतीश कुमार ने मोदी पर निशाना साधते हूए कहा कि 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान गिरिराज सिंह के घर पर दो करोड़ रुपए होने का पता लगा था लेकिन अभी तक उन पर कोई कार्यवाही नहीं हुई.
 
आपको बता दें कि अवधेश प्रसाद का वीडियो सामने के बाद उन्होंने मंत्रीपद से इस्तिफा दे दिया है और पार्टियां ने पीपरा सीट से उनकी उम्मीदवारी भी खारीज कर दी.