मधुबनी. बिहार चुनाव के मद्देनजर इंडिया न्यूज अपने खास शो ‘चुनावी चौराहा’ में जनता की नब्ज़ टटोलने के लिए मधुबनी पहुंचा. ये जिला खास मधुबनी पेंटिंग के लिए मशहूर है. बता दें कि मधुबनी का पौराणिक नाम ‘मधुवाणी’ था.

मधुबनी की सियासत

मधुबनी में साल 2000 से बीजेपी को जीत मिलती आई है. साल 2010 के विधानसभा चुनाव में  बीजेपी के रामदेव महतो ने  आरजेडी के नैयर आज़म को करीबी मुकाबले में सिर्फ 588 वोटों से हराया था.

इस बार के चुनाव में भी बीजेपी ने रामदेव महतो को ही उम्मीदवार बनाया है. जबकि महागठबंधन से आरजेडी के समीर कुमार महासेठ को टिकट मिला है. मधुबनी में आखिरी चरण में पांच नवंबर को मतदान होना है.

मधुबनी की समस्याएं

जिले में खराब सड़कों और ट्रैफिक जाम से जनता लगातार परेशान है. मधुबनी में भी किसानों के लिए सिंचाईं की उचित व्यवस्था नहीं है. इतना ही नहीं जिले में बेरोजगारी भी एक प्रमुख समस्या है जिससे युवा यहां से पलायन करने को मजबूर हैं.