शिवहर. बिहार में पहले चरण के लिए चुनाव प्रचार थम गया है. पहले चरण में 12 अक्टुबर को 49 सीटों पर मतदान होगा. ऐसे में जनता के मूड को जानने के लिए इंडिया न्यूज़ के स्पेशल शो ‘चुनावी चौराहा’ की टीम शिवहर पहुंची.

शिवहर 1994 में सीतामढ़ी से अलग होकर अलग जिला बना था. 2010 के विधानसभा चुनाव में शिवहर विधानसभा सीट से जेडीयू के शर्फुद्दीन ने जीत हासिल की थी. इस बार के चुनाव में भी जेडीयू ने इन्हीं को मैदान में उतारा है. वहीं एनडीए से हिंदुस्तान आवाम मोर्चा ने पूर्व सांसद लवली आनंद को चुनाव मैदान में उतारा है. लवली आनंद दो बार सांसद रह चुके आनंद मोहन की पत्नी हैं. बता दें कि आनंद मोहन डीएम हत्याकांड में सज़ा काट रहे हैं.

शिवहर विधानसभा सीट पर एनडीए और महागठबंधन को टक्कर देने के लिए समाजवादी पार्टी ने अजीत कुमार झा को टिकट दिया है. बता दें कि अजीत झा आरजेडी के पुराने नेता रघुनाथ झा के बेटे हैं. वहीं बीजेपी छोड़ चुके रत्नाकर राणा इसबार निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.

शिवहर की समस्याएं

शिवहर नक्सल प्रभावित इलाका है जिससे इलाके की जनता में लगातार नक्सलियों का खौफ बना हुआ है. शिवहर की जनता चाहती है कि शिवहर को रेल लाईन से जोड़ा जाए ताकि इलाके का विकास हो सके. इलाके में सूखा और बाढ़ प्रमुख समस्याएं हैं.