बेगूसराय. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सत्तारूढ़ महागठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि छोटे भाई और बड़े भाई ने बिहार को 25 वर्षो तक लूटा और अब फिर ‘महास्वार्थ बंधन’ कर लिए हैं. 
 
मोदी ने कहा कि इस चुनाव में ‘जंगलराज’ और ‘विकास राज’ की लड़ाई है. मुंगेर और बेगूसराय में अलग-अलग चुनावी सभा में बिहार की अपार जल संपदा और युवा शक्ति की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार के कुछ इलाकों में खूब पानी है, जिसके लिए हिंदुस्तान के कई इलाके तरसते हैं. यहां लबालब जवानी (युवा) भी भरी पड़ी है. उन्होंने कहा, “बिहार में अगर सिर्फ पानी और जवानी पर ध्यान दे दिया जाए तो राज्य की तस्वीर बदल जाए. बिहार के पानी और जवानी पर भरोसा है, ये केवल बिहार को नहीं, पूरे देश को बदल देंगे, इसका भरोसा है. परंतु जरूरी है कि यहां पानी का सही प्रबंधन हो और जवानी को सही अवसर मिले.” 
 
मोदी ने कहा कि अमीरों को सरकार की जरूरत नहीं पड़ती, परंतु गरीबों के कल्याण के लिए सरकार ही होती है. मोदी ने कहा, “चुनाव तो गरीबों के नाम पर लड़े गए, लेकिन सरकार गरीबों के लिए नहीं चलाई गई. आज तक जितनी भी सरकारें आई, उन्होंने अगर गरीबों के कल्याण को ध्यान में रखकर सरकार चलाई होती तो देश में न गरीबी बढ़ती न अशिक्षा.” जयप्रकाश नारायण को याद करते हुए उन्होंने कहा कि देश की आजादी के बाद वह सुशासन के लिए लड़ते रहे. ‘संपूर्ण क्रांति’ का नारा देकर देश के नौजवानों में नया जोश भर दिया. आपातकाल के दौरान कांग्रेस ने जयप्रकाश नारायण को जेल में डाल दिया था. आज उसी कांग्रेस के साथ स्वार्थ की राजनीति करने वाले दल गठबंधन कर बिहार की सत्ता पर काबिज होना चाहते हैं. उन्होंने कहा, “हमें बिहार के भाग्य को बदलना है और राज्य के नौजवान इस काम को करेंगे.”