नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाषण शैली में समझें तो मोदी ने बीजेपी से कहा है कि वो 10 नहीं, 20 नहीं बल्कि कम से कम 35 रैलियों से बिहार का चप्पा-चप्पा छान मारेंगे ताकि वहां बीजेपी की अगुवाई में एनडीए की सरकार बन सके.

सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी पार्टी बीजेपी से कहा है कि वो बिहार विधानसभा चुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक चरण के मतदान से पहले दो दिन रैलियों के लिए देंगे.

इस लिहाज से पांच चरण के चुनाव में मोदी कम से कम 10 दिन बिहार में प्रचार करेंगे. पहले चरण के मतदान से पहले 8 और 9 अक्टूबर को मोदी 7 रैलियां करेंगे. इस औसत से देखें तो मोदी 38 जिलों वाले बिहार में कम से कम 35 रैलियां करेंगे.

पहले चरण के मतदान से पहले मोदी की 7 और रैलियां

पहले चरण में राज्य के 10 जिलों समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, नवादा और जमुंई जिले की 49 सीटों पर 12 अक्टूबर को मतदान होना है.

प्रधानमंत्री मोदी पहले चरण की वोटिंग वाले जिलों में बांका में पहले ही रैली कर चुके हैं. अब वो 8 अक्टूबर को मुंगेर, समस्तीपुर, बेगूसराय और नवादा में रैलियां करेंगे. 9 अक्टूबर मोदी की रैली सासाराम, मखदुमपुर और अरवल में है. मखदुमपुर से पूर्व सीएम और एनडीए के पार्टनर हम के अध्यक्ष जीतनराम मांझी लड़ रहे हैं.

संभावना है कि मोदी की कुछ रैली 10 अक्टूबर को भी हों जिस दिन पहले चरण के मतदान के लिए शाम 5 बजे प्रचार का काम बंद हो जाएगा. मोदी 8 अक्टूबर की रात पटना में ही रहेंगे और पार्टी के नेताओं के साथ चुनावी रणनीति पर बात करेंगे.