पटना. जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने पूर्व सीएम जीतनराम मांझी को झूठों का सरदार बताते हुए कहा कि वो भाजपा की दलाली में झूठी बातें करके सीएम नीतीश कुमार से उनके 40 साल पुराने रिश्ते में दरार डालने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मांझी को नहीं हटाते तो पार्टी का नाश हो जाता.
 
मांझी ने इंडिया न्यूज़ के एडिटर-इन-चीफ दीपक चौरसिया के साथ संवाद कार्यक्रम में दावा किया था कि जब नीतीश ने उनसे सीएम पद से इस्तीफा देने कहा था तब शरद ने उनसे एकांत में कहा था कि वो इस्तीफा मांगेंगे लेकिन मैं इस्तीफा न दूं.
 
मांझी ने दावा किया था कि शरद ने कहा था कि उन पर नीतीश का दबाव है इसलिए वो इस्तीफा देने को कहेंगे लेकिन तुम्हें इस्तीफा नहीं देना है.
 
सीएम पद से नहीं हटाते तो पार्टी का ही नाश कर देते मांझी: शरद
 
शरद यादव ने कहा कि हमने शुरू में मांझी को बचाने की कोशिश की थी लेकिन जब पूरी पार्टी ने कहा कि यह तो दल का ही नाश कर देगा तो हमने हटाने को कह दिया. मांझी को तीसरे दर्जे का आदमी बताते हुए शरद ने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि मैं दोहरी बातें नहीं करता.
 
मांझी के दावे को जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने भी झूठा करार दिया है. सिंह ने कहा कि मांझी जब दल में थे तो उन्होंने ऐसी कोई बात नहीं की और अब बीजेपी के साथ चले गए हैं तो मनगढ़ंत बात कर रहे हैं.