नई दिल्ली. कांग्रेस-आरजेडी-जेडीयू के महागठबंधन को बिहार में मिल रही कठिन चुनौती के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी राज्य विधानसभा के पांच चरण में होने वाले चुनाव से पहले अगले महीने कई चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे. सोनिया गांधी तीन और सत्रह अक्तूबर को चुनावी रैली को संबोधित करेंगी जबकि राहुल गांधी 7, 26 और 30 अक्तूबर को रैलियों को संबोधित करेंगे.
 
कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दोनों सोनिया और राहुल के साथ एक या ज्यादा रैलियों में हिस्सा ले सकते हैं. कांग्रेस अध्यक्ष की रैली की शुरूआत तीन अक्तूबर को भागलपुर के कहलगांव और गया के वजीरगंज से होगी. राहुल गांधी के सात अक्तूबर को तीन रैलियों को संबोधित करने का कार्यक्रम है जो बेगूसराय में बछवाड़ा, शेखपुरा में बरबीघा और सासाराम के चेनारी में होंगी.
 
सोनिया ने 30 अगस्त को पटना में महागठबंधन की ओर से आयोजित स्वाभिमान रैली में लालू और नीतीश कुमार के साथ मंच साझा किया था जबकि राहुल गांधी ने 19 सितम्बर को चम्पारण में चुनावी रैली को संवोधित किया था. इस रैली में जेडीयू के महासचिव के सी त्यागी और राजद नेता और लालू के पुत्र तेजस्वी यादव मंच पर उनके साथ थे .
 
बिहार में 243 सदस्यीय विधानसभा के लिए 12 अक्तूबर से पांच चरणों में चुनाव है. बिहार की चुनावी रैलियों में व्यस्त होने के चलते राहुल गांधी की प्रस्तावित कर्नाटक यात्रा को 6 और सात अक्तूबर की बजाय 9 और 10 अक्तूबर कर दिया गया है.