पटना. बिहार में राघोपुर विधानसभा क्षेत्र के तेरसिया में RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद ने रविवार को अपने बेटे तेजस्वी यादव के साथ चुनाव प्रचार की शुरुआत की. रैली को संबोधित करते हुए लालू ने पहली बार सीधे कहा कि अब ये बैकवर्ड और फॉरवर्ड की लड़ाई है. 
 
लालू ने अपने भाषण में कहा, ‘बीजेपी की टीम के एक सांसद अरुण कुमार ने कहा था कि नीतीश की छाती तोड़ देंगे, अब वहां हम बैठे हैं देखते हैं कौन तोड़ता है.’ लालू ने कहा, ‘लोकसभा में हमारा और नीतीश का वोट बंट गया. मैंने नीतीश को फोन किया और कहा देखो हम अलग हो गए तो ब्राह्मणवादी व्यवस्था के लोग जीत गए’
 
लालू ने राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ पर हमला बोलते हुए कहा, ‘संघ में सिर्फ ब्राह्मण बैठे हुए हैं. यह लड़ाई अब बैकवर्ड और फॉरवर्ड की है.’ लालू ने सर संघचालक मोहन भागवत की भी खूब खबर ली. अपने अंदाज में लालू ने कहा, ‘मोहन भागवत क्या बोलता है, आरक्षण खत्म कर देगा, हम बैठे हैं यहां, अगर मूंछ में दम है तो आरक्षण खत्म कर के दिखाओ.’
 
लालू ने यादव कार्ड खेलते हुए कहा, ‘यदुवंशियों सावधान. बीजेपी वाला आपको बेवकूफ समझता है, उनको लगता है आपका वोट बंट जाएगा. लालू को जब भैंस कमजोर नहीं कर सका तो और कौन कर लेगा.’ लालू बोलते रहे और लोग तालियां बजाते रहे. लालू ने कहा, ‘सब कहता है ललुआ आ जाएगा, ललुआ आ जाएगा, ललुआ आ जाएगा तो रोक कौन लेगा?’
 
तेजस्वी भी बीजेपी पर बरसे
लालू यादव के बाद राघोपुर  से पार्टी के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने रैली को संबोधित किया. तेजस्वी ने कहा, ‘सब कहते हैं तेजस्वी तो बच्चा है, 18 साल के बाद बच्चा बड़ा हो जाता है.’ तेजस्वी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा, ‘सरकार आरक्षण खत्म करना चाहती है. जब उनके चुनावी वादें पूरे नहीं हुए तो अपना एजेंडा पूरा करने में जुट गए.’
 
परिवारवाद के आरोप पर तेजस्वी ने कहा, ‘बीजेपी के सभी नेता शपथ पत्र दें कि उनके बेटे राजनीति नहीं करेंगे. मैं गरीब और पिछड़े का बेटा हूं इसलिए परिवारवाद का आरोप लगता है.’ पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी पर हमला बोलते हुए तेजस्वी ने कहा, ‘बेल रद्द कर और केस खुलवाकर लालू यादव को जेल भिजवाने की बात सुशील मोदी कहते हैं. आप किसे डरा रहे हैं. हमारे तो कृष्ण भगवान् का जन्म ही जेल में हुआ था.’