नई दिल्ली. नीतीश कुमार जदयू से, रामशंकर राजद से अशोक चौधरी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सीटों की घोषणा के लिए प्रेस के सामने आए. नीतीश ने कहा, समाज के हर तबके और हर समुदाय के लोगों को इसमें शामिल किया गया है. घोषित 242 उम्मीदवारों में 14 फीसदी मुस्लिम, 16 फीसदी SC/ST, 55 फीसदी OBC और 16 फीसदी सामान्य वर्ग से आते हैं. एक और सीट का ऐलान कुछ दिन बाद किया जाएगा. 
 
लालू के दोनों बेटे भी मैदान में
लालू के दोनों बेटे इस बार चुनावी मैदान में होंगे. कांग्रेस ने 14 उम्मीदवारों की घोषणा अभी की है. तेज प्रताप और तेजस्वी यादव दोनों बेटों को चुनावी मैदान में उतार दिया है. तेज प्रताप महुआ से चुनाव लड़ेंगे और तेजस्वी राघोपुर से चुनाव लड़ेंगे. मखदूमपुर जहां से मांझी चुनाव लड़ रहे हैं वहां लालू ने सूबेदार दास को चुनाव मैदान में उतारा है. मुस्लिम उम्मीदवारों की बात करें तो राजद से 16 सीटों पर और जदयू ने सात सीटों पर मुस्लिम उम्मीदवार को उतारा है. बाहुबली मुन्ना शुक्ला को लालगंज से जदयू ने प्रत्याशी बनाया है. अभी मुन्ना शुक्ला की पत्नी लालगंज से विधायक हैं. नीतीश कुमार ने सबसे ज्यादा कोईरी उम्मीदवार उतारे हैं. मंत्री वैद्यनाथ साहनी का मोरवा से टिकट कटा. रामधनी सिंह का भी टिकट कटने की खबर है। ये दोनों नीतीश सरकार में मंत्री थे.
 
जमुई सीट से सांसद जय प्रकाश यादव के भाई विजय प्रकाश को टिकट मिला है. लालू ने सबसे ज्यादा 64 उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं. उम्मीदवारों की लिस्ट में जातिगत समीकरणों का पूरा ख्याल रखा गया है. कई पुराने चेहरों का टिकट कट गया है. मुजफ्फरनगर से जेडीयू के विजेद्र चौधरी को टिकट दिया गया है. कांग्रेस ने 14 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं. लालू ने 48, नीतीश ने 14 और कांग्रेस ने दो यादव उम्मीदवार उतारे हैं. जेडीयू ने लालगंज से मुन्ना शुक्ला को टिकट दिया है. बिहार में पहले चरण के चुनाव के लिए नामांकन भरने का आज आखिरी दिन है. 12 अक्टूबर को 49 सीटों पर वोटिंग होनी है. इससे पहले पटना में एक कार्यक्रम में मुलाकात के दौरान लालू ने नीतीश को जीत का टीका लगाया. लालू ने नीतीश से यह भी कहा कि ‘बन जाओ मुख्यमंत्री’. गौरतलब है कि एनडीए में भी सीटों को लेकर काफी खींचतान मची हुई है. कई नेता यहां नाराज चल रहे हैं.