नई दिल्ली. नीतीश के नेतृत्व में बने महागठबंधन की दो प्रमुख पार्टियों आरजेडी और कांग्रेस ने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है. लालू के दोनों बेटों को चुनावी मैदान में उतारा गया है. बड़ा बेटा तेज प्रताप महुआ से और छोटे बेटे तेजस्वी राघोपुर से चुनाव लड़ेंगे. मखदूमपुर से जीतन राम मांझी के खिलाफ लालू ने सुबेदार दास को उतारा है. जमुई सीट से सांसद जय प्रकाश यादव के भाई विजय प्रकाश को टिकट मिला है.
 
मोरवा से वैद्यनाथ साहनी का टिकट काट दिया गया है. लालू ने सबसे ज्यादा 64 उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं. उम्मीदवारों की लिस्ट में जातिगत समीकरणों का पूरा ख्याल रखा गया है. कई पुराने चेहरों का टिकट कट गया है. जमुई से जयप्रकाश के भाई, मुजफ्फरनगर से जेडीयू के विजेद्र चौधरी को  टिकट दिया गया है.
 
कांग्रेस ने 14 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं. लालू ने 48, नीतीश ने 14 और कांग्रेस ने दो यादव उम्मीदवार उतारे हैं. जेडीयू ने लालगंज से मुन्ना शुक्ला को टिकट दिया है.  अभी मुन्ना शुक्ला की पत्नी लालगंज से विधायक हैं. नीतीश कुमार ने सबसे ज्यादा कोईरी उम्मीदवार उतारे हैं.
 
आपको बता दें कि बिहार में पहले चरण के चुनाव के लिए नामांकन भरने का आज आखिरी दिन है. 12 अक्टूबर को 49 सीटों पर वोटिंग होनी है. बिहार में पहले चरण के मतदान की तारीख के करीब आने के बाद, एकदम आखिरी दिन उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की गई है. सूत्रों के मुताबिक बगावत को टालने के लिए आखिरी वक्त तक इसे टाला जा रहा था.
 
इससे पहले पटना में एक कार्यक्रम में मुलाकात के दौरान लालू ने नीतीश को जीत का टीका लगाया. लालू ने नीतीश से यह भी कहा कि ‘बन जाओ मुख्यमंत्री’. गौरतलब है कि एनडीए में भी सीटों को लेकर काफी खींचतान मची हुई है. कई नेता यहां नाराज चल रहे हैं.