पटना. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा चीफ जीतन राम मांझी ने नॉमिनेशन फ़ाइल करने के बाद आज जहानाबाद में एक चुनावी सभा में नीतीश कुमार और सुशील मोदी जैसे नेताओं पर सीधा निशाना साधा. मांझी ने कहा कि सिर्फ निर्वाचित लीडर को ही सीएम बनाया जाना चाहिए न कि बैकडोर से आने वाले किसी नेता को. 
 
मांझी ने संघ प्रमुख मोहन भगवत के आरक्षण पर दिए गए बयान का भी विरोध किया और कहा कि संविधान में आर्थिक आधार पर आरक्षण नहीं दिया गया है. जब तक सामाजिक और शैक्षणिक समानता न आ जाये, तब तक आरक्षण समाप्त करने की बात करना अनुचित है. 
 
बता दें कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी दोनों विधान परिषद में हैं. इसके अलावा NDA में सीएम पद की उम्मीदवारी के लिए रविशंकर प्रसाद और शहनवाज हुसैन जैसे नेताओं का नाम भी चर्चा में है. मांझी का इशारा इन्हीं नेताओं की तरफ है. मांझी ने कहा कि निर्वाचित नेता ही जनता से रूबरू हो पाता है.