पटना. अपनी बिरादरी के लिए विधानसभा चुनाव में ज्यादा से ज्यादा सीट मांग रहे बॉलीवुड निर्माता और बिहार की राजनीति में सन ऑफ मल्लाह नाम से चमके मुकेश सहनी ने आखिरकार नीतीश कुमार को अपना समर्थन दे दिया है. अत्यंत पिछड़ी जातियों में निषाद अहम हैं और बिहार में इनके वोटरों की संख्या करीब 11 फीसदी है.

मुकेश सहनी ने मंगलवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से भी मुलाकात की थी लेकिन बुधवार को पटना पहुंचने के बाद नीतीश कुमार की अगुवाई वाले महागठबंधन को समर्थन की घोषणा कर दी. सहनी ने कहा था कि लोकसभा चुनाव में निषाद बिरादरी ने भाजपा का समर्थन किया था लेकिन बीजेपी ने समुदाय के हित में अभी तक कुछ किया नहीं है.

नीतीश सरकार ने निषाद को एसटी में शामिल किया

दिल्ली आने से पहले सहनी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिले थे और तब नीतीश ने उनसे समर्थन मांगते हुए जेडीयू में आने का खुला न्योता भी दिया था. पटना में गुरुवार को सहनी एक संवाददाता सम्मेलन में नीतीश कुमार और लालू यादव की मौजूदगी में अपने समर्थन की औपचारिक घोषणा करेंगे.

नीतीश कुमार की सरकार ने निषाद को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने का फैसला किया है जो मुकेश सहनी की अहम मांग रही है. सहनी का कहना है कि नीतीश ने निषाद समाज को ज्यादा से ज्यादा सीटें देने का वादा किया है.

बिहार के दरभंगा जिले के रहने वाले मुकेश सहनी ने 18 साल की उम्र में मुंबई का रास्ता पकड़ा था और आज वो मुंबई में फिल्म निर्माण के अलावा बॉलीवुड की कई फिल्मों के लिए सेट डिजाइन का काम करते हैं. सहनी की इवेंट मैनेजमेंट कंपनी भी है.