पटना. बिहार चुनाव में एनडीए में हुए सीट बंटवारे से नाखुश जीतनराम मांझी के बाद उनके दामाद और हिंदुस्तान आवामी मोर्चा पार्टी के नेता देवेंद्र मांझी ने कहा है कि उनकी पार्टी को लालू प्रसाद यादव के साथ जाने में कोई परहेज़ नहीं है, लेकिन इसके लिए लालू को नीतीश का साथ छोड़ना होगा. इसके अलावा  ‘हम’ के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा है कि हमारे पास कई और अन्य विकल्प खुले हुए हैं. अगर राम विलास पासवान से एक भी सीट हमें काम मिलती है, तो हमें विचार करना होगा.    
 
आपको बता दें कि बिहार में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए में इस समय सीट बंटवारे में घमासान मचा हुआ है. बड़ा सवाल ये है कि गठबंधन में नेता नंबर 2 कौन- रामविलास पासवान या जीतनराम मांझी. उपेंद्र कुशवाहा खुद को नंबर 3 मान चुके हैं. सीट बंटवारे को लेकर मांझी की नाराजगी का दर्द इसमें ही छुपा है.
 
उधर, बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव का कहना है कि एनडीए में सीट बंटवारे को लेकर किसी तरह का मतभेद नहीं है. अगर कोई बात है भी तो उसे जल्‍द सुलझा लिया जाएगा. हालांकि सीट बंटवारे के मुद्दे पर बीजेपी की अपने सहयोगी दलों के साथ आज बैठक होगी. इससे पहले शनिवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ बिहार बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक हुई थी.