भागलपुर. सोनिया गांधी, नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव के स्वाभिमान रैली के जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भागलपुर में परिवर्तन रैली की. इस दौरान उन्होंने विपक्षियों को निशाना बनाने के लिए राज्य सरकार, महागंठबधन और विकास के मुद्दों को ऊपर रखा.
 
उन्होंने रैली की शुरुआत में नीतीश और लालू पर निशाना साधते कहा, ‘पटना के गांधी मैदान में दो दिन पहले तिलांजलि सभा हुई थी, लोहिया, कर्पूरी, जेपी नारायण के चेलों ने उन्हें तिलांजलि दी.जेपी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई की शुरुआत की थी और कांग्रेस उनकी मौत की जिम्मेदार बनी. बिहार के पैसे थे फिर भी नहीं बनाए गए हेल्थ सेंटर, देश में कम्युनिटी हेल्थ सेंटर बढ़े, बिहार में घटे. 2005 में 105 थे और 2014 में घटकर 70 हुए.’
 
 
मोदी ने कहा, ‘उन्होंने जो भी बात की, उसका संबंध मोदी, मोदी, मोदी से था. मैं सोचता था कि सिर्फ एनडीए यूथ मोदी-मोदी करता है लेकिन एऩडीए विरोधी दल भी ऐसा करते हैं.मजबूरी में ही सही इन्हें जातिवाद छोड़कर विकास की बात करनी पड़ रही है.बिहार से मुझे विशेष प्रेम है. बिहार को भूलता तो याद कैसे आती. जब नेपाल में भूकंप आया था तब मैं पहला शख्स था जिसने बिहार के मुख्यमंत्री को फोन कर पूछा था, ‘बिहार में कोई नुकसान तो नहीं?नेपाल के भूकंप के प्रभाव पर जानकारी मांगने पर CM ने कहा था कि उन्हें जानकारी नहीं, तब मैंने अधिकारियों से जानकारी मांगी थी कि क्या राज्य को मदद की जरूरत है? बिहार के लोग बहुत समझदार हैं, अगर बिहार आगे बढ़ेगा तो पूरा देश आगे बढ़ेगा.’