पटना. जेडीयू नेता और सीएम नीतीश कुमार की अगुवाई वाले गठबंधन में बिहार का चुनाव लड़ने जा रही कांग्रेस ने गठबंधन के दूसरे दिग्गज नेता आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद से पसंदीदा सीटें लेने के काम पर लालू के ही दामाद और हरियाणा कांग्रेस के महासचिव चिरंजीव राव को लगाने का मन बना लिया है.

चिरंजीव राव हरियाणा के वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री अजय यादव के बेटे हैं जिनसे लालू प्रसाद की बेटी अनुष्का की शादी हुई है. चिरंजीव को हाल ही में हरियाणा कांग्रेस का महासचिव बनाया गया है. इससे पहले वो राज्य में युवा कांग्रेस के मुखिया थे.

कांग्रेस के बिहार प्रभारी सीपी जोशी से चिरंजीव की मुलाकात हुई है और उसके बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि उन्हें बिहार चुनाव में पार्टी की तरफ से महत्वपूर्ण काम दिया जा सकता है. माना जा रहा है कि उन्हें अनौपचारिक तौर पर ससुर लालू प्रसाद और साले तेजस्वी यादव से समन्वय बिठाने के लिए भेजा जाएगा.

ससुर को समझाने के मिशन पर बिहार पहुंचेंगे चिरंजीव

कांग्रेस बिहार में गठबंधन के तहत मिली 40 सीटों पर लड़ेगी. सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस ज्यादा से ज्यादा सवर्ण बहुल सीटों पर ही लड़ना चाहती है जिससे बीजेपी के वोट बैंक को तोड़ा जा सके.

पार्टी चाहती है कि चिरंजीव राव अपने ससुर यानी लालू प्रसाद को पार्टी के नजरिए पर सहमत कराएं और अगड़ी जाति के वोटरों की बहुलता वाली सीटें कांग्रेस के लिए लाएं.

कांग्रेस का लॉजिक है कि अगड़ी जाति के दबदबे वाली सीटों पर उसका उम्मीदवार होगा तो सवर्ण वोटरों के साथ-साथ यादव और कुशवाहा वोट मिलकर बीजेपी को इन सीटों पर रोक सकते हैं.