दिल्ली. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और बिहार के सीएम नीतीश कुमार की दोस्ती अब बंद कमरे की मेल-जोल से आगे जाती दिख रही है. दिल्ली में बुधवार को बिहार के लोगों के एक सम्मान समारोह में नीतीश और केजरीवाल मंच पर साथ-साथ नजर आएंगे. 

मैथिली भोजपुरी अकादमी की तरफ से बुधवार को दिल्ली के कंस्टीट्यूशन क्लब में बिहार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया है जिसमें बिहार के कुछ लोगों को दिल्ली की इस संस्था के बैनर तले अरविंद केजरीवाल और नीतीश कुमार सम्मानित करेंगे.

बिहार में विधानसभा का चुनाव नवंबर से पहले होना है और ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो राजनीतिक विरोधी नीतीश कुमार और अरविंद केजरीवाल का बिहार के लोगों को सम्मानित करने के लिए एक साथ मंच पर आना अहम है.

केजरीवाल के मुख्यमंत्री बनने के बाद से नीतीश कुमार दो बार अरविंद केजरीवाल से मिल चुके हैं और दोनों ही बार उन्होंने केंद्र सरकार के साथ केजरीवाल के झगड़े में केजरीवाल का पक्ष लिया है.

नीतीश की अगुवाई वाले गठबंधन में केजरीवाल नहीं !

हालांकि अभी तक केजरीवाल या आम आदमी पार्टी ने बिहार चुनाव को लेकर कोई संकेत नहीं दिया है कि वो चुनाव  में क्या करेंगे. चूंकि नीतीश की अगुवाई वाले गठबंधन में सीटों का बंटवारा हो चुका है इसलिए ये एक तरह से साफ है कि आम आदमी पार्टी और नीतीश की अगुवाई वाले गठबंधन के बीच कोई चुनावी तालमेल नहीं होने वाला है.

अटकल है कि अरविंद केजरीवाल बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से नीतीश के समर्थन में बिहार के दौरे पर जा सकते हैं. आम आदमी पार्टी बिहार चुनाव में उम्मीदवार देगी या नीतीश का समर्थन करेगी, ये भी अभी साफ नहीं है.