पटना. बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है. कांग्रेस सूत्रों की माने तो पार्टी ने विधानसभा चुनाव को लेकर वैकल्पिक रणनीति पर गंभीरता से काम करना शुरू कर दिया है.कांग्रेस ने आरजेडी और जेडीयू से अलग अपने दम पर भी विधानसभा चुनाव लड़ने का विकल्प अभी तक खुला रखा हुआ है. 

दरअसल कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने सभी जिलाध्यक्षों को बिहार की सभी 243 सीटों के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट बनाने के लिए कहा है. गौरतलब है कि कांग्रेस ने जेडीयू और आरजेडी के साथ गठबंधन किया हुआ है, लेकिन सीट बंटवारे के बाद ही तय होगा कि यह गठबंधन विधानसभा चुनाव तक कायम रहता है या नहीं. राहुल गांधी ने 10 अगस्त को बिहार के सभी वरिष्ठ नेताओं की एक मीटिंग बुलाई है. मीटिंग में बिहार चुनाव से जुड़ी रणनीति पर विचार किया जाएगा.

दरअसल कांग्रेस ने बिहार चुनाव को लेकर तीन योजनाएं बनाई हैं. प्लान ए में आरजेडी और जेडीयू के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की है. प्लान ए के फेल हो जाने पर प्लान बी और प्लान सी को इस्तेमाल में लाया जाएगा. वहीं प्लान बी सिर्फ जेडीयू के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ना है. कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि हम जानते हैं कि लालू यादव आखिरी समय में भी अपनी बात से मुकर जाते हैं, अगर सीट शेयरिंग को लेकर पहले का समझौता काम नहीं करता, तो हमें सभी स्थितियों के लिए तैयार रहना होगा.

एजेंसी इनपुट भी