पटना. बिहार दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुजफ्फरपुर की रैली में चुनावी बिगुल फूंक दिया है. करीब 45 मिनट के अपने भाषण में पीएम मोदी ने नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव पर खूब निशाना साधा. जंगलराज की वापसी का डर दिखाते हुए मोदी ने कहा कि आरजेडी (RJD) का मतलब-रोजाना जंगलराज का डर. साथ ही, नीतीश कुमार का बिना लिए उन्होंने कहा कि पीठ में छुरा भोंकना जिन लोगों के काम रहा हैं उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता.

बतौर पीएम पहली बार बिहार पहुंचे मोदी ने पुरानी बातों को याद करते हुए कहा, ‘गुस्से में आकर सीएम नीतीश ने बिहार की विकास यात्रा का गला घोंट दिया. अगर नीतीश को मुझसे इतनी ज्यादा दिक्कत थी और मैं बुरा था तो वह (नीतीश) मुझे बंद कमरे में चांटा मारते, गला घोंट देते.’

लालू-नीतीश के बीच हालिया बयानबाजी पर मोदी ने कहा,  ‘कौन सांप है, कौन सांप नहीं है, यह आप दोनों तय कर लो. कौन जहर पीता है, कौन पिलाता है, यह भी तय कर लो. लेकिन, बिहार की जनता को जहर पीने के लिए मजबूर मत करो. सौ दिन बाद बिहार की जनता इनकी छुट्टी कर देगी.’

भीड़ को देखकर उत्साह में आए मोदी ने कहा कि सारे पॉलिटिकल पंडित देख लें इस रैली को, नतीजा साफ हो जाएगा कि अगली सरकार किसकी बनने वाली है. उन्होंने लोगों से सवाल किया, ‘जो लोग कहते हैं मोदी जी को बिहार नहीं आने देंगे, हमें मोदी जी की जरूरत नहीं है. क्या वे केंद्र के साथ सही से काम कर पाएंगे ?

रैली में केंद्रीय मंत्री और लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा, राजीव प्रताप रूढ़ी, रवि शंकर प्रसाद, रामकृपाल यादव, नेता प्रतिपक्ष सुशील मोदी, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय, नंद किशोर यादव, सीपी ठाकुर भी मुजफ्फपुर की सभा में मौजूद रहे.