पटना. महिलाओं की ओर से की जा रही मांग के आगे झुकते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वादा किया कि यदि अगली बार वे सत्ता में आए तो शराब पर पाबंदी लगा देंगे. समाज कल्याण विभाग के एक ग्राम्य वार्ता कार्यक्रम के दौरान नीतीश के संबोधन के दौरान कुछ महिलाओं ने यह मांग की और फिर मुख्यमंत्री ने शराब पर पाबंदी लगाने का वादा किया.
 
महिला वोटों पर है नीतीश की नज़र
नीतीश ने कहा, ‘‘जब मैं अगली बार सरकार बनाउंगा तो शराब पर पाबंदी लगाई जाएगी.’’ इस वादे को सुनकर महिलाएं खुशी से झूम उठीं. मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में महिला सशक्तिकरण को लेकर अपनी सरकार की कोशिशें गिनाईं. उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास स्वयं-सहायता समूह (एसएचजी) से डेढ़ करोड़ महिलाओं को जोड़ने का है.

नीतीश कनेक्ट की शुरुआत की 
इस बीच, ‘नीतीश कनेक्ट’ नाम के सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म की मदद से लोगों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वाणिज्य कर विभाग की एक उच्च-स्तरीय बैठक की ताकि उनकी समस्याएं सुलझाई जा सकें. नीतीश ने वाणिज्य कर मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, प्रधान सचिव (वित्त) रवि मित्तल और प्रधान सचिव (वाणिज्य कर) सुजाता चतुर्वेदी के साथ बैठक की ताकि वाणिज्य कर के बाबत 164 लोगों की ओर से उठाए गए मुद्दों को सुलझाया जा सके.
 
समीक्षा बैठक में फैसला किया गया कि दो लाख रुपए तक के करों के लिए डी-8 फॉर्म की जरूरत नहीं होगी. इस बीच, जमुई के सिमुलतला स्कूल से संदिग्ध माओवादियों द्वारा एक बच्चे को अगवा करने और फिर उसे छोड़ देने के मामले पर मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव, डीजीपी और एडीजीपी (मुख्यालय) के साथ एक उच्च-स्तरीय बैठक की. नीतीश ने डीजीपी को स्कूल की सुरक्षा स्थिति परखने के निर्देश दिए.

एजेंसी इनपुट भी