नई दिल्ली. इंडिया न्यूज़ के विशेष शो भारत पर्व में आज अध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा मूर्ति पूजा के असली अर्थों के बारे में बता रहे हैं. गुरूजी ने बताया कि सिर्फ मूर्ति तक उलझ कर रह जाना ईश्वर की अवहेलना करना है. मूर्ति सिर्फ एक माध्यम है जबकि लोग उसे ही ईश्वर मान लेते है. मूर्ति के सिंगार और मंदिरों के डिजाइन में ही ईश्वर को खोजना मूर्खता है.