नई दिल्ली. भारतीय संस्कृति मूलतः अरण्य संस्कृति रही है, अरण्य अर्थात् वन. जन्म से ही मनुष्य का नाता प्रकृति से जुड़ा जाता है. इसी कारण प्रकृति की आराधना तथा पर्यावरण का संरक्षण करना हमारा पुरातन भारतीय चिंतन है. प्रकृति के साथ सह-अस्तित्व की भावना से युक्त जीवन व्यतीत करने वाले वैदिक ऋषियों ने प्राकृतिक शक्तियों-वसुंधरा, सूर्य, वायु, जल आदि की भावपूर्ण स्तुति की है.
 
कुछ खास प्राकृतिक वनस्पतियां ऐसी हैं जो आपके जीवन में सुख व शांति ला सकती हैं. ऐसी ही खास वनस्पतियों के बारे में बताएंगे आध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा इंडिया न्यूज़ के खास कार्यक्रम भारत पर्व में.