नई दिल्ली. भारत की संस्कृति कई मामलों में दूसरे देशों से धनी है. यहां जितनी विविधता पाई जाती है, उतनी यहां की मान्यताएं भी अलग-अलग है. इंडिया न्यूज शो भारत पर्व में आध्यात्मिक गुरू पवन सिन्हा बताते है कि कैसे भारत में अलग-अलग तरह से चीजों को देखा जाता है, परखा जाता है और व्याख्या किया जाता है.