नई दिल्ली. सूर्य को जगतपिता माना है, इसी की शक्ति से समस्त ग्रह चलायमान है, यह आत्मा कारक और पितृ कारक है, पुत्र राज्य सम्मान पद भाई शक्ति दायीं आंख चिकित्सा पितरों की आत्मा शिव और राजनीति का कारक है.
 
ज्योतिष के मुताबिक सूर्य का असर अलग-अगल समय पर हमारी राशि में अलग तरह से पड़ता है. जानिए इसके पिछे का राज इंडिया न्यूज के शो भारत पर्व में अध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा जी से
 
वीडियो में देखे पूरा शो