नई दिल्ली. श्रीमद्भागवत पुराण हिन्दू समाज का सर्वाधिक आदरणीय पुराण है. यह वैष्णव सम्प्रदाय का प्रमुख ग्रन्थ है. इस ग्रन्थ में वेदों, उपनिषदों तथा दर्शन शास्त्र के गूढ़ एवं रहस्यमय विषयों को अत्यन्त सरलता के साथ निरूपित किया गया है.
 
इंडिया न्यूज के टीवी भारत पर्व में आध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा बताते हैं कि इसे सैकड़ों वर्षों से यह पुराण हिन्दू समाज की धार्मिक, सामाजिक और लौकिक मर्यादाओं की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता आ रहा हैं.
 
कलयुग में जिस व्यक्ति के पास जितना धन होगा वो उतना गुणी माना जाएगा और कानून, न्याय केवल एक शक्ति के आधार पर लागू किया जाएगा. इस युग में पुरूष और स्त्री साथ-साथ रहेंगे और व्यापार में सफलता छल पर निर्भर करेगा.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: