मुंबई. भोजपुरी गानों की दुनिया में कल्पना पटवारी का नाम जाना-पहचाना है. कल्पना एक बार जब तान छेड़ती है तो हर कोई उन्हें  सुनें  बिना नहीं रह सकता है. वह असम में पैदा हुई लेकिन उन्होंने भोजपुरी को इस कदर आत्मसात किया है कि हर कोई कहता है कि वह भोजपुरी गानों के लिए ही बनीं है.

इंडिया न्यूज की एंकर चित्रा त्रिपाटी से बात करते हुए कल्पना ने बताया कि मुंबई में संगीत के लिए बड़ा स्कोप है. असम में संगीत इंडस्ट्री था. लेकिन एक बार लगा कि आगे क्या करना है.इसी सवाल के साथ वह मुंबई और भोजपुरी संगीत का पहचान बन गई. कल्पना संगीत में भूपेन हजारिका को आदर्श मानती हैं.

कल्पना ने भोजपुरी के अलावा देश की 18 और भाषाओं में गीत गाया है. उन्होंने कैरियर की शुरुआत एक रीमिक्स अलबम ‘माय हर्ट इज बीटिंग’ से की है. असम के जाने-माने लोक गायक बिपीन पटोवारी की बेटी कल्पना का संबंध संगीत के घराने से रहा है. बचपन से ही कल्पना की दिलचस्पी संगीत में पैदा हो गई और उसने तय कर लिया कि संगीत को ही अपने जीवन का मकसद बनाना है.

वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: