नई दिल्ली. मूल रूप से पौढ़ी गढ़वाल की रहने वाली मशहूर पार्श्र्व गायिका कल्पना चौहान किसी परिचय की मोहताज नहीं है. उन्होंने कई संघर्षों से खुद को गीत-संगीत के क्षेत्र में स्थापित किया है. उन्होंने गढ़वाली लोकगीत को न सिर्फ देश की संस्कृति में एक खास पहचान दिलाई है, बल्कि कुमाऊनी, हरियाणवी, राजस्थानी और गुजराती कल्चर की लोक गायिका के रूप में अपनी अलग पहचान भी बनाई है.  इंडिया न्यूज शो ‘बेटियां’ में कल्पना ने उस घटना का जिक्र किया है जिसके बाद वह करीब तीन महीने तक एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती रहीं. लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी.